उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ने लोकसभा चुनाव शांतिपूर्ण एवं व्यवस्थित सम्पन्न कराने के दिये दिशा-निर्देश

व्यूज़ 24 (राजीव मेहता - यमुनानगर, हरियाणा) :: उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी आमना तस्नीम ने जिला सचिवालय के सभा कक्ष में पुलिस अधिकारियों, चारों विधानसभा क्षेत्रों के सहायक रिटर्निग अधिकारियों, मैजिस्ट्रेटों, तहसीलदारों, नायब तहसीलदारों व खण्ड विकास एवं पंचायत अधिकारियों की बैठक ली और बैठक में उन्होंने सभी अधिकारियों को लोकसभा आम चुनाव-2019 को शांतिपूर्ण एवं व्यवस्थित ढंग से सम्पन्न करवाने के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार लोकसभा आम चुनाव 2019 की घोषणा 10 मार्च को कर दी गई है तथा उसके तहत ही हरियाणा में चुनाव की घोषणा की तिथि से आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू हो गई है। चुनाव प्रक्रिया के तहत अधिसूचना की तिथि 16 अप्रैल 2019 निर्धारित की गई है तथा नामांकन भरने की अंतिम तिथि 23 अप्रैल है। प्रत्याशियों के नामांकन की जांच 24 अप्रैल को होगी वहीं नामांकन वापिस लेने की तिथि 26 अप्रैल है। मतदान 12 मई 2019 को होगा और 23 मई को मतों की गणना होगी।

उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी आमना तस्नीम ने कहा कि मतदाताओं को लुभाने के लिए नगदी, शराब या अन्य पारितोषिक वस्तुओं का वितरण रिश्वत की श्रेणी में आता है जोकि एक दंडनीय अपराध है। चुनाव के दौरान निर्वाचन क्षेत्र में 10 हजार रुपए तक की नगदी रखी जा सकती है, इसे सम्बन्धित द्वारा कहां पर प्रयोग किया जाना है, यह बताना होगा। उन्होंने कहा कि निष्पक्ष, स्वच्छ व शांतिपूर्ण चुनाव सम्पन्न करवाने में सभी अधिकारी पूर्ण सहयोग करें व आपसी तालमेल व समन्वय बनाए रखे। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति टोल फ्री नम्बर 1950 पर फोन करके वोट सम्बधी हर प्रकार की जानकारी ले सकता है। आमना तस्नीम ने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा नागरिकों हेतू चुनाव से संबंधित अपनी शिकायतें दर्ज करने के लिए सीविजील एप शुरू किया गया है। कोई भी नागरिक आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन की घटना का वीडियो या फोटो इस एप पर अपलोड कर अपनी शिकायत दर्ज कर सकता है। शिकायत दर्ज होने पर संबंधित अथोरिटी को 100 मिनट में इस शिकायत का निवारण करना होता है। उन्होंने कहा कि आयोग द्वारा राजनीतिक पार्टियों को किसी भी प्रकार की अनुमति लेने हेतू ऑनलाईन सुविधा एप शुरू की गई है। यह एक सिंगल विंडो एप है। ऑनलाईन आवेदन करने पर ऑनलाईन निपटारा ही किया जाएगा।

जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त आमना तस्नीम ने कहा कि सभी अधिकारी गांवो में बराबर रूप से पंचो,सरपंचों व नम्बरदारों से जानकारी बनाए रखे व आपसी भाईचारा तथा सदभावना कायम रखने के लिए हर प्रकार से पहले से ही प्रबंध करें। उन्होंने कहा कि सभी शस्त्र लाईसैंस धारक अपने हथियारों को तुरंत अपने सम्बंधित थानों में जमा करवा दें। इसके लिए सभी गांवों एवं क्षेत्रों में मुनादी करवाए और मुनादी की रिपोर्ट चौकीदार के रजिस्ट्रर में दर्ज करवाए। उन्होंने पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी पुलिस अधिकारी अपने-अपने क्षेत्रों में औचक निरीक्षण करें और अवैध शराब को पकड़े व अपराध को तुरंत रोके। उन्होंने सभी अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि संवेदनशील व अति संवेदनशील मतदान केन्द्रों की जांच कर ले और साथ ही साथ मतदान केन्दों में यदि कहीं कोई कमी है या कोई आवयकता है तो इसकी भी जांच करें और रिपोर्ट तुरंत उच्च अधिकारियों को भेजे। उन्होने यह भी निर्देश दिए कि अन्य प्रदेशों से लगने वाली जिला की सीमाओं पर विशेष चौकसी रखी जाए व सीसी टीवी कैमरे लगाने के कदम उठाए जाए और सीमावर्ती गांव के सरपंचा व नम्बरदारों से निरंतर बातचीत की जाए।

बैठक में पुलिस अधीक्षक कुलदीप सिंह यादव ने कहा कि चुनाव सम्पन्न होने तक कोई भी अधिकारी मुख्यालय न छोड़े। अपने-अपने क्षेत्र में शस्त्र धारकों से हथियार तुरंत जमा करवाए। शराब की तस्करी रोकने पर विशेष ध्यान दें और यह भी ध्यान रखे की कोई ज्यादा धन राशि लेकर इधर-उधर न जाने पाए और आपसी भाईचारे को कायम रखने के ठोस कदम उठाए और विवादों को निपटाने के लिए तुरंत कार्यवाही करें और इसकी सूचना तुरंत कंट्रोल रूम में दे। उन्होंने यह भी कहा कि अपराधियों को तुरंत हिरासत में लेने की कार्यवाही करें। उन्होंने यह भी कहा कि शांति एवं कानून व्यवस्था हर हालत में बनाई रखी जाए। बैठक में पुलिस अधीक्षक ने यह भी निदेश दिए कि बुलेट मोटर साईकिलों से जिला में कही भी कोई भी पटाखे न चलाए व तुरंत कार्यवाही करें। बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त प्रशांत पंवार, जगाधरी के एसडीएम सतीश कुमार व नगराधीश सोनू राम ने भी लोक सभा आम चुनाव को व्यवस्थित ढंग से करवाने के लिए अधिकारियों के साथ अपने-अपने विचार सांझा किए।

इस अवसर पर बिलासपुर के एसडीएम गिरीश कुमार, रादौर के एसडीएम कंवर सिंह, जिला राजस्व अधिकारी अभिषेक, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी कपिल शर्मा, पुलिस विभाग के डीएसपीज, थाना प्रबंधक, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, खण्ड विकास एवं पंचायत अधिकारी व अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Responses

Leave your comment