कश्मीर फतह पर देशभर में खुशी के माहौल के बीच कहीं-कहीं गम की खबर

वैन (दिल्ली ब्यूरो) - बीते 70 सालों से कश्मीर में लगी धारा 370 और 35ए को मोदी सरकार द्वारा हटाये जाने के बाद जहां पूरे देश में जश्न का माहौल है वहीं हर भारतवासी इस कदम की सराहना कर रहा है। साथ ही जहां कश्मीर के अलगाववादी नेता इसके अंजाम भुगतने की धमकी देते नज़र आ रहे हैं वहीं देश के दूसरे हिस्सों से मिलीजुली ख़बरें आ रही हैं। कुल मिला कर देखा जाए तो आम आदमी इस कदम की सराहना तो कर ही रहा है साथ ही पड़ोसी देश इस कदम से सहमे नज़र आ रहे हैं।

हमारे उत्तर प्रदेश के कानपुर संवाददाता पंकज के अनुसार; उत्तर प्रदेश में वैसे तो हर जगह जश्न का माहौल है लेकिन कानपुर नगर में उत्साह का माहौल कुछ अलग ही रहा और सडकों पर उतर कर लोग अपने ढंग से खुशियों का इजहार करते नजर आये। सुबह से ही उत्साहित और प्रफुल्ति लोग भारत का राष्ट्रीय ध्वज लेकर सडको पर उतर आये और भारत माता की जय के नारे को बुलंद करते हुए अखण्ड भारत हमारा है के नारे लगाये। जहां सिविल लाइन मर्चेन्ट चेम्बर हाॅल के सामने 14 बंाग्लो कालोनी के निवासियों ने हर्षोल्लास के साथ कालोनी गेट पर राहगीरो को वाहन सवारो को रोकर मिष्ठान खिलाकर मुंह मीठा किया वहीं ग्वालटोली में दीपक श्रीवास्तव ने भी मिठान का वितरण किया। इस दौरान लोगों का कहना था कि मोदी व अमित शाह देश के लिए वरदान है, मोदी के नेतृत्व में जहां अंतराष्ट्रीय स्तर पर भारत की ख्याति बढी है वहीं भारत के निजी मामलो को भी निस्तारित किया जा रहा है। लोगो का कहना है कि देश सुरक्षित हाथो में है लेकिन जनता का भी फर्ज बनता है कि वह पूर्ण रूप से सरकार का सहयोग करे ताकि देश का विकास हो सके।

वैन न्यूज़ संवाददाता भगत तेवतिया के अनुसार, हरियाणा के पलवल में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता भी इस जश्न को मनाने में पीछे नहीं हैं। पलवल ओल्ड जीटी रोड स्थित मोती लाल पार्क के समीप ढोल नगाड़ों के साथ धारा 370 को खत्म करने का जश्न मनाया। यही नहीं एक दूसरे को लड्डू खिलाकर अपनी खुशी का इजहार किया। इस अवसर जिला महामंत्री व गांव जनचौली की सरपंच गीता देवी ने कहा कि आज देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने धारा 370 को खत्म कर एक इतिहास रच दिया है और इसके लिए वो देश के प्रधामंत्री का तहे दिल से धन्यवाद करती है। जिला महामंत्री व गांव जनचौली की सरपंच गीता देवी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी अपनी स्थापना के समय से ही जम्मू कश्मीर में दो निशान दो प्रधान और दो विधान के खिलाफ थी और इसके खिलाफ आवाज उठाई थी। कुछ सुधार भी हुए थे, लेकिन धारा 370 की वजह से वहां आतंकवादी और राजनेता आपस में मिलकर अपनी स्वार्थ सिद्धि करने में लगे हुए थे। जिस पर आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वह गृह मंत्री अमित शाह ने बिल्कुल पूर्ण विराम लगा दिया है। जो वायदा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की जनता व कश्मीर के लोगों के लिए किया था, वह वायदा पूरा कर दिया है और आज उन्हें अपने देश के प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी गर्व है कि उन्होंने धारा 370 को खत्म कर यह साबित कर दिया है कि उनका वास्तव में 56 इंच का सीना है और आज वास्तव में 70 साल के बाद पुरे देश में फिर एक बार आजादी का सा माहौल बना हुआ है। उन्होंने कहा कि आज देश बहुत ही सुरक्षित हाथो में है और देश के प्रधानमंत्री ने धारा 370 ख़त्म को ख़त्म करके यह साबित कर दिया है कि मोदी है तो मुमकिन है। इस अवसर पर सभी ने एक दुसरो के लड्डू खिलाकर खुशी इजहार किया और ढोल नगाड़ों के साथ धारा 370 को खत्म करने का जश्न मनाते हुए भारत माता की जय के नारे लगाए।

हरियाणा के ही भिवानी में जम्मू कश्मीर से धारा 370 में बदलाव करने व 35 ए हटाए जाने व जम्मू और कश्मीर को केन्द्र शासित प्रदेश बनाने के लिए भाजपा कार्यकर्ताओं ने खुशी जताई। जम्मू कश्मीर और पूरे देश ने आज नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार के इस फैसले का स्वागत किया व शहर में ढोल नगाड़े के साथ केन्द्र सरकार के इस ऐतिहासिक निर्णय पर जुलूस निकाला व मिठाई बांटी। पूर्व विधायक एवं वरिष्ठ भाजपा नेता स्व विश्वंभर दत्त शर्मा के भतीजे एवं वरिष्ठ कार्यकर्ता प्रियंक दत्त शर्मा ने भाजपा जिलाध्यक्ष नन्दराम धानिया की अध्यक्षता में नेहरू पाक स्थित शहीद स्मारक पर पुष्प अर्पित कर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष भाजपा नंद राम धानिया, जिला सचिव बृजपाल सिंह, वरूण गौड़, देव अग्रवाल, प्रदीप पालुवासिया, तुषार ढाणा,उ मेद पूर्व सरपंच, रमेश पूर्व सरपंच, मंजीत सिंह, मनीष सोनी समेत सैकड़ों की संख्या में लोग शामिल हुए।

उधर, जैसे ही राज्यसभा में कश्मीर से 370 व 35ए को हटाने की प्रस्ताव रखा गया, उसी समय हरियाणा सरकार में एक और सुधार के प्रोजेक्ट डायरेक्टर और पीएम नरेन्द्र मोदी के स्टार प्रचारक रॉकी मित्तल ने ऐलान कर दिया था कि 24 घंटे के अंदर इस मसले पर गाना बनाकर दिखाएंगे। अपने वादे के मुताबिक रॉकी मित्तल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह द्वारा उठाए गए इस साहसिक कदम और भारत माता की शान में एक गाना लॉन्च कर चुके हैं। यू ट्यूब और अन्य सोशल मीडिया पर इस गाने को काफी पसंद किया जा रहा है। रॉकी मित्तल ने बताया कि इस गाने में कश्मीर समस्या से जुड़े हुए सभी पहलुओं को शामिल किया गया है। इस गाने को सुनने के बाद भारत देश से प्रेम करने वाले हर एक शख्स को गर्व महसूस होगा। चार मिनट के इस गाने में एक तरफ कश्मीर की असल समस्या को दिखाकर यह बताया गया है कि इस निर्णय किस तरह से भारत के लिए फायदेमंद है। कश्मीर में आतंकवाद की समस्या को हल करने के लिए यह फैसला लेना कितना जरुरी था यह इस गाने में दर्शाया गया है। इस गाने में मोदी शाह के साथ ही सरदार बल्लभ भाई पटेल की भूमिका दिखाया गया है। इसके साथ ही पंडित नेहरु, महबूबा मुफ्ती, उमर फारुख को आड़े हाथों लिया गया गया है कि किस तरह से यह पिछले 70 सालों से कश्मीर के नाम पर गंदी राजनीति खेल रहे थे। इनकी राजीनिति के हर पहलू को दिखाया गया है। गाने में आतंकवाद और पाकिस्तान के मुंह पर करारा तमाचा है। रॉकी मित्तल का कहना है कि 24 घंटे के अंदर इस गाने को जमींन पर उतारना बहुत ही चुनौतीपूर्ण काम था। गाने के बोल तैयार करना, पहाड़ों में जाकर शूटिंग करना और फिर स्टूडियो में घंटो तक फिल्म को फाइनल करना, वो भी चौबीस घंटे में काफी कठिन काम है लेकिन जब हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कश्मीर के कैंसर यानि 370 को खत्म करने जैसा कठिन काम कर सकते हैं तो गाना बनाना तो बस दिन रात की मेहनत ही है। मेरी टीम ने पूरी रात जागते हुए इस गाने को कंपलीट किया। इसके लिए मेरी टीम बधाई की पात्र है। रॉकी मित्तल का कहना है कि उन्हें पूरी उम्मीद है कि यह गाना पूरे देश में धूम मचाएगा और लॉन्चिंग के कुछ ही घंटों में यह गाना एक बड़ी मिसाल भी कायम करेगा। बरहाल यू ट्यूब और सोशल मीडिया पर यह काफी पसंद किया जा रहा है।

हमारे बिहार कोऑर्डिनेटर रामा शंकर के अनुसार सीपीआई (एमएल) के महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य ने कहा कि अनुच्छेद-370 को रद्द करना और जम्‍मू-कश्‍मीर राज्‍य को दो केंद्र शासित क्षेत्रों लद्दाख और जम्‍मू कश्‍मीर में विभाजित करना भारतीय संविधान के विरुद्ध तख्‍तापलट जैसी कार्रवाई से कम नहीं। जम्मू-कश्मीर से बीजेपी सरकार ने धारा 370 हटा दिया है साथ ही पुनर्गठन विधेयक बिल सोमवार को राज्यसभा में पास हो गया है. वहीं, सीपीआई (एमएल) के महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य ने कहा कि अनुच्छेद-370 को रद्द करना और जम्‍मू-कश्‍मीर राज्‍य को दो केंद्र शासित क्षेत्रों लद्दाख और जम्‍मू कश्‍मीर में विभाजित करना भारतीय संविधान के विरुद्ध तख्‍तापलट जैसी कार्रवाई से कम नहीं है। उन्होंने कहा, हम मांग करते हैं कि कश्‍मीर घाटी से सैन्‍य बल तुरंत हटाया जाए, अनुच्छेद-370 और अनुच्छेद-35 ए को तुरंत बहाल किया जाए और सभी विपक्षी नेताओं को नजरबंदी से तत्‍काल रिहा किया जाए। उन्होंने आरोप लगाया, मोदी सरकार अपने लुके-छिपे, साजिशाना और गैर-कानूनी तौर तरीकों से संविधान को और कश्‍मीर को बाकी भारत से जोड़ने वाले महत्‍वपूर्ण इस ऐतिहासिक सेतु को जलाने का काम कर रही है भट्टाचार्य ने कहा कि सीपीआई (एमएल) संकट के इस समय में जम्‍मू कश्‍मीर की जनता के साथ खड़ी है और यह आह्वान करती है कि संविधान पर हुए इस हमले और तख्‍तापलट के खिलाफ पूरे देश में विरोध प्रदर्शन आयोजित किए जाएं। राज्यसभा ने सोमवार को अनुच्छेद 370 की अधिकतर धाराओं को खत्म कर जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को दो केन्द्र शासित क्षेत्र बनाने संबंधी सरकार के दो संकल्पों को मंजूरी दे दी. राज्यसभा में राज्य पुनर्गठन बिल पर हुई वोटिंग में पक्ष में 125 और विपक्ष में 61 वोट पड़े. अब मंगलवार को इस पर लोकसभा में वोटिंग होगी। गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के लिए कोई अलग ध्वज नहीं होगा और तिरंगा झंडा ही समूचे देश के लिए एकमात्र राष्ट्रीय ध्वज होगा. जम्मू-कश्मीर के लिए कोई अलग संविधान नहीं होगा और यहां का शासन भारत के संविधान से होगा।

Responses

Leave your comment