समग्र शिक्षा अभियान के तहत 6 से 14 वर्ष के बच्चों की शिक्षा के लिए प्रयास तेज

वैन (भगत तेवतिया - पलवल, हरियाणा) :: पलवल, शिक्षा से वंचित रह गए 6 वर्ष से लेकर 14 वर्ष तक की आयु के बच्चों को समग्र शिक्षा अभियान के अंर्तगत दोबारा से मुख्य धारा के साथ जोड़ने का कार्य किया जाएगा। शिक्षा परियोजना परिषद पंचकूला के सलाहकार अमीचंद ने आज पलवल में इस योजना को लेकर औचक निरीक्षण किया और योजना से जुड़े हुए शिक्षकों से बातचीत की । उन्होंने कहा कि पलवल जिले में समग्र शिक्षा अभियान के तहत बेहत्तर कार्य किया जा रहा है। इस मौके पर जिला शिक्षा अधिकारी अशोक कुमार बघेल, जिला परियोजना अधिकारी हुक्मचंद भी मौजूद थे।

शिक्षा परियोजना परिषद पंचकूला के सलाहकार अमीचंद ने बताया कि आर्थिक कारणों के चलते कई बार 6 वर्ष से लेकर 14 वर्ष तक की आयु के बच्चे शिक्षा से वंचित रह जाते है। शिक्षा के अधिकार के नियम के तहत सरकार की यह कोशिश है कि 6 वर्ष से लेकर 14 वर्ष तक की आयु का कोई भी बच्चा स्कूल से बाहर ना रहे। इन बच्चों को स्कूल में लाने के लिए केंद्र सरकार की तरफ से चार हजार रूपए व राज्य सरकार की तरफ से दो हजार रूपए प्रदान किए जाते है। यह राशी बच्चों की शिक्षा पर खर्च की जाती है। योजना के तहत बच्चों को शिक्षा प्रदान करने के लिए टीचर उपलब्ध करवाऐ जाते है। जिनकों 9 हजार रूपए प्रति माह प्रदान किया जाता है। प्रदेश भर में 19 हजार 505 पर इस योजना का लाभ उठा रहे है। जिसमें लड़के व लड़कियां शामिल हैं। गुरूग्राम में करीब 7 हजार बच्चे व मेवात में लगभग 6 हजार बच्चों को योजना का लाभ दिया जा रहा है। पलवल जिले में 1600 बच्चों को योजना में शामिल किया गया है। वर्ष 2020 में पलवल जिले में लगभग ढाई हजार से 3 हजार बच्चों को इस योजना में शामिल करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसके लिए जल्द ही एक सर्वे किया जाएगा।

जिला परियोजना अधिकारी हुक्मचंद ने बताया कि समग्र शिक्षा अभियान के अंर्तगत पलवल जिले में विभिन्न स्थानों पर 59 केंद्र चलाए जा रहे है। जो बच्चे विभिन्न कारणों से स्कूल नहीं जा पाते उनके माता पिता से संर्पक कर उन्हें शिक्षा के महत्व के बारे में जागरूक किया जाता है और शिक्षा से वंचित रह गए बच्चों को दोबारा से समाज की मुख्य धारा से जोडऩे का कार्य किया जा रहा है। सरकार की इस योजना का लाभ देने के लिए शिक्षा विभाग की तरफ से अथक प्रयास किए जा रहे है।

Responses

Leave your comment