अगर उधोगपतियों का कर्ज माफ होगा तो किसानों का कर्जा भी माफ होगा - राहुल गाँधी

वैन (ब्रज किशोर शर्मा - आगरा, उत्तर प्रदेश) :: सरकार ने जब सत्ता संभाली तब कहा था कि हर साल रोजगार देंगे। किसानों को कहा कि कर्जा माफ होगा। आम आदमी को कहा कि उसके खाते में 15 लाख डालेंगे। हमने कुछ दिन पहले अपने एक्सपर्टस से पूछा कि हम सबसे गरीब लोगों को कितना पैसा उनके खाते में डाल सकते हैं? तब जो नंबर सामने आया वो था 72000 हजार रुपये साल और हम यह कर सकते हैं। हम झूठ नहीं बोलते, हम जो कहेंगे वो करेंगे। लगातार जो बीजेपी का प्रचार-प्रसार हो रहा है उसका पैसा कौन दे रहा है? आप जानते नहीं तो हम बताते हैं, यह वो पैसा है जो मोदी ने उधोगपतियों को दिया। तब हमने ये नारा दिया चौकीदार चोर है, ये हुआ 5 साल में।

हमने मध्य प्रदेश और छतीसगढ़ में यह बता दिया कि कैसे कांग्रेस जीतने के बाद जो कहती है वो करती है? हमने दो दिन में कर्ज माफ किया। मोदी कहते हैं पैसा कांग्रेस कंहा से लायेंगे न्याय योजना के लिए? तो मैं बता देता हूँ कि ये पैसा उन्ही उधोगपतियों से आएगा जिनको इन्होंने दिया है। नोटबन्दी के दौरान मोदी ने आम जनता से पैसा लेकर बड़े उधोगपतियों की जेब में डाला, आम जनता मरती रही। हम कहते हैं हम 10 लाख युवाओं को रोजगार दिलवा देंगे। जो कहेंगे करेंगे, पर इन्होंने जो कहा वो किया आप ही बताइए। यूपी का किसान बीमा देता है कभी सोचा है कि आपका ही पैसा आपको वापस नहीं मिलता? आपको बता दूं ये सब अडानी, अम्बानी में बंट जाता है। मैं बस इतना कहूंगा कि अगर उधोगपतियों का कर्ज माफ होगा, तो किसानों का कर्जा भी जरूर माफ होगा।

Responses

Leave your comment