जहां कन्या की पूजा होती है वहां साक्षात मां दुर्गा विराजमान होती है - साध्वी माया नंद सरस्वती जी महाराज

वैन ब्यूरो (भिवानी, हरियाणा) :: जिस घर में कन्या जन्म लेती है वहां कन्या के साथ ही मां लक्ष्मी व मां दुर्गा मां सरस्वती उस घर में प्रवेश कर जाती हैं। वे उस घर को साधन-संपन्न कर देती हैं साथ ही साथ वह परिवार सात्विक विचारों का परिवार बन जाता है। यह कहना है पूर्वी वाला हनुमान मंदिर की महंत साध्वी माया नंद जी सरस्वती का। उन्होंने कहा कि जहां कन्या भ्रूण को जन्म से पहले ही मार दिया जाता है वहां उस परिवार में सात्विक विचारों का हनन होता है। वहीं मां दुर्गा के स्वरूपों की कृपा भी खत्म हो जाती है। मकर सक्रांति के पावन अवसर पर उन्होंने मंदिर में उपस्थित लोगों को कन्या भ्रूण हत्या ना करने और ना ही उसका सहयोग करने की शपथ दिलाते हुए लोगों के सुखद भविष्य की कामना की। इस अवसर पर हरि सिंह सांगवान, सुरेश कुमार, मोतीलाल, जय भगवान प्रकाश सोनी, प्रेम सोनी, दुष्यन्त राणा, विमल आचार्य, शुभम, अजय सिहाग, रोहताश जाखड़, किरण, निर्मला राखी, दया, जयवंती कृषणा रेखा, उमा, सुशीला राजबाला आदि मोजुद थे।

Responses

Leave your comment